स्त्री वशीकरण मंत्र


Stri Vashikaran Mantra

कहते है की हर एक ताले की चाभी ताले के निर्माण के समय ही बना दी जाती है किन्तु कई बार वह चाभी गुच्चे में ही नहीं मिलती है | किन्तु यह पक्का है की उस ताले की चाभी उसी गुच्चे में है |ठीक इसी तरह से किसी भी स्त्री का वशीकरण करने के लिए एक प्रभावशाली स्त्री वशीकरण मंत्र की आवश्यकता होती है | स्त्री का वशीकरण करना और उसको हासिल करना काफी आसान है | स्त्री वशीकरण के प्रयोगों  और साधनाओ को प्रातः सूर्योदय से लेकर चार घंटे तक में ही प्रारम्भ कर देना चाहिए | स्त्री वशीकरण की साधना और सिद्धि के लिए बसंत के महीने को सबसे बढ़िया माना जाता है | स्त्री वशीकरण की सिद्धि के लिए नवमी , दसमी और एकादसी , पूर्णिमा , अमावस्या की तिथियों का निर्धारण किया गया है | स्त्री वशीकरण की साधना के लिए शुक्रवार , शनिवार , और रविवार को विशेश माना गया है | स्त्री वशीकरण के मंत्रो की सिद्धि के लिए उत्तर दिशा की ओर मुख करके बैठने को उचित माना गया है |

स्त्री वशीकरण मंत्र :

१- अविश्रानतम जपा पुष्प छाया जननी जिह्या जयति सा ||

२- ॐ नमो भगवते रुद्राय संदृष्टि लम्पिनाहर स्वाहा | कंसासुर की दुहाई ||

३- ॐ साखाहुली | वन में फूली | बैठी करे सिंगार | राजा मोहे प्रजा मोहे | सबने करे सिंगार | मेरी भक्ति गुरु की शक्ति | फुरो मंत्र इश्वरो वाचा ||

४- ॐ नमो बैतालाय आदि पुरुषाय ( अमुकं ) आकर्शंम वशं वशं कुरु कुरु स्वाहा ||

५- ॐ  नमो देवी त्रिपुरा ( अमुकं ) वशं कुरु कुरु स्वाहा ||

 


स्त्री वशीकरण मंत्र




SERVICES OF HIPNOTIZAME

वशीकरण