वशीकरण | मिटटी की हंडिया से होलिका दहन की रात्री में


vashikaran|use mitti ki hadiyaa at holi mid night

जिसको हम पाना चाहते है उसका हमारे प्रति आकर्षण पैदा होना ही वशीकरण कहा जाता है | होली की रात्री में वशीकरण या सम्मोहन का प्रयोग किया जाता है | यदि आप किसी भी स्त्री या पुरुष को अपने निकट लाना चाहते है तो बताये गए प्रयोग को होलिका जलने वाली रात्री को संपन्न करने पर वशीकरण का प्रभाव हो जाता है | या उसके मन में आपके प्रति चाहत पैदा होने लगती है | और वह स्त्री या पुरुष आपसे मिलने को बेकरार हो जाता है | होली की रात्री में वशीकरण का प्रयोग करने के लिए एक पकी हुयी मिटटी की  हड़िया या कुल्ल्हड़ को मंगवाकर उसके अंदर सिद्ध वशीकरण यन्त्र को रख देना चाहिए | इसके साथ ही उस  हड़िया में एक सियार सिंगी वा सात काली मिर्च को रख कर  वशीकरण के मंत्र का ज्यादा से ज्यादा जाप करना चाहिए |

मंत्र : ॐ वीर वैताल ( अमुक ) के मन को मेरी ओर फेर , मेरे वश में कर , चरणों में पड़े , कहिये करे , सौ ताले , तोड़ हजार होय , कहू सो होय , ठह ठह फट ||

मंत्र का जाप पूर्ण कर लेने के पश्चात मिटटी के पात्र को ले जा कर एकांत स्थान पर जमीन के निचे लगभग सवा फीट खुदाई करके दबा दे | और वापिस आकर स्नान कर ले | इस प्रयोग को करने से वशीकरण मंत्र सिद्ध हो जाता है | और साधक किसी भी स्त्री या पुरुष का वशीकरण कर पाने में कामयाब हो जाता है |


होली की शुभ बेला में सर्वजन वशीकरण सिद्धि | ॐ सर्व लोक वशकराय कुरु कुरु स्वाहा




SERVICES OF HIPNOTIZAME

वशीकरण