मारण कर्म प्रयोग


Maran Karam Prayog

मारण कर्म प्रयोग

शत्रु यानी की दुश्मन को अपने रास्ते से हटाने के लिए या उसको सही रास्ते पर लाने के लिए मारण कर्म का प्रयोग किया जाता है | आपका दुश्मन महिला , स्त्री या पुरुष कोई भी हो मारण कर्म के प्रयोग से आपको शत प्रतिशत सफलता प्राप्त होती है | मारण कर्मो का प्रयोग एक बेहद शक्तिशाली और कारगर औजार है जो की आपके दुश्मन को बिना कोई भी समय दिए हुए उसको समाप्त कर देता है | मारण कर्म के लिए साप की हड्डी या मनुष्य की खोपड़ी का प्रयोग किया जाता है | यदि मारे हुए तेली  का खोपड़ी कही से मिल जाय तो उसमे दुश्मन के पैरो की धुल को रखने से दुश्मन मृत्यु के मुख में चला जाता है | तेली की खोपड़ी में दुश्मन की कोई भी फोटो को रख कर यदि जमीं के निचे दबा दिया जाय तो दुश्मन तड़फ तड़फ कर प्राण त्याग देगा | दुश्मन की फोटो में एक नुकीली पिन को चुभोकर यदि तेली की खोपड़ी में रख दिया जाय और उसमे ऊपर से काले धतूरे का तेल भी डाल दिया जाय तो दुश्मन कुछ ही घंटो में मर जाएगा | किसी भी मिटटी की पुरानी हांडी में बिच्छु की जड़ का तेल रखकर यदि उसमे दुश्मन की कोई भी पहनी हुयी जुराब , या बनियान आदि को रख कर हांडी को बंद करके किसी शमशान के अंदर दबा दे तो दुश्मन पागल होकर मर जाएगा |

सावधानिया :

मारण मंत्रो का प्रयोग किसी सिद्ध पंडित या अघोरी या तांत्रिक के द्वारा बताये गए अनुसार ही करे | मेरा  तो यह  मानना है की मारण कर्म का प्रयोग का रास्ता अंत में ही चुने ||

 

 


मारण कर्म प्रयोग




SERVICES OF HIPNOTIZAME

वशीकरण